Haryana News: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज के जनता दरबार में लोगों की लगी लंबी लाइनें, कई मामलों में मौके पर ही दिए कड़ी कार्रवाई के निर्देश

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज का जनता दरबार बेशक आजकल आयोजित नहीं हो रहा है,
 
हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज के जनता दरबार में लोगों की लगी लंबी लाइनें

Haryana News: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज का जनता दरबार बेशक आजकल आयोजित नहीं हो रहा है, मगर फिर भी उनके आवास पर रोजाना प्रदेश के कोने-कोने से जनता का तांता लगता है। आज प्रदेशभर से आए सैकड़ों लोगों की समस्याओं को गृह मंत्री अनिल विज ने सुना और संबंधित अधिकारियों को सख्ती से कार्रवाई करने के दिशा-निर्देश दिए।

        यमुनानगर से आई महिला एवं उनके परिवारजनों ने आरोप लगाया कि आरोपी उनकी 20 वर्षीय बेटी को बहला-फुसलाकर घर से ले गया। आरोपी ने उनकी बेटी से अवैध संबंध बनाए और वह बेटी का धर्मांतरण भी कराना चाहता है। मामले को गंभीरता से लेते हुए गृह मंत्री अनिल विज ने तुरंत यमुनानगर एसपी को फोन पर सख्त हिदायत दी और मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने एसपी से कहा कि अपनी बेटी के लिए महिला भटक रही है और इस मामले में फौरन कार्रवाई अमल में लाई जाए।

अमेरिका में छात्रा को कालेज में एडमिशन के नाम पर 28 लाख रुपए की ठगी, मंत्री विज ने कबूतरबाजी के लिए गठित एसआईटी को सौंपी जांच

करनाल से आए व्यक्ति ने गृह मंत्री श्री अनिल विज को बताया कि उसने अपनी बेटी को अमेरिका भेजने के लिए एजेंट से बातचीत की थी और करनाल के कुछ लोगों से संपर्क किया था। आरोपियों ने उन्हें झांसा दिया कि उनकी बेटी को स्टडी वीजा पर अमेरिका भेजने के लिए 32 लाख रुपए लगेंगे, मगर बात 28 लाख रुपए में तय हुई। फरियादी ने बताया कि उसने 28 लाख रुपए एजेंट को दिए। इसके बाद उनकी बेटी का वीजा व पासपोर्ट आने पर वह अमेरिका चली गई। मगर जब वह कालेज पहुंची तो पता चला कि एजेंट द्वारा उसका दाखिला कालेज में कराया ही नहीं गया। गृह मंत्री ने कबूतरबाजी मामलों के लिए गठित एसआईटी को मामले की जांच के निर्देश दिए। इसी तरह, गृह मंत्री द्वारा कबूतरबाजी के एक अन्य मामले भी एसआईटी को जांच के लिए दिए गए।

बहादुरगढ़ में वकीलों से मारपीट का आरोप, एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए

        गृह मंत्री श्री अनिल विज को बहादुरगढ़ से आए वकीलों ने शिकायत देते हुए बताया कि कुछ लोगों द्वारा उनके साथ मारपीट की गई थी, लेकिन पुलिस ने उनकी शिकायत पर कार्रवाई करने की बजाए उल्टा वकीलों पर केस दर्ज कर लिया। गृह मंत्री ने मामले में एसपी को एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए।

        इसी तरह, कुरुक्षेत्र से आए महंत व मंदिर पुजारी ने मंदिर जमीन पर जबरन कुछ लोगों द्वारा कब्जा करने, सैनिक द्वारा पेहवा में उसके खेतों में पानी देने से उसे रोकने, फरीदाबाद से आई महिला द्वारा पति के आत्महत्या मामले में कार्रवाई नहीं होने, जींद निवासी व्यक्ति द्वारा शादी के नाम पर डेढ़ लाख रुपए की ठगी करने, शाहबाद निवासी महिला द्वारा उसका नाबालिग लड़की को तलाश करने एवं अन्य कई शिकायतें गृह मंत्री अनिल विज के समक्ष आई जिस पर उन्होंने संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई के दिशा-निर्देश दिए।

Tags